Sunday, December 22, 2013

अनाडी का खेलना मतलब खेल का सत्यानाश।

जो लोग केजरीवाल को समझदार मानते थे वो लोग आज वास्तव में बहुत निराश होंगे. यह तो पप्पू से भी ज्यादा ना-समझ निकला. अपनी सरकार बनाने के लिए समर्थन लेने की जो शर्तें केजरीवाल ने रखीं हैं उन पर चर्चा करते हैं. कजरीवाल सरकार बना कर वादे पूरे करने का प्रयास करें न कि और नए वादे कर जनता को गुमराह करे. लोकलुभावन वादे करना बहुत आसान है मुश्किल है उनको अमल में लाने के लिए संशाधन जुटाना .

क्या केजरीवाल के पास ऐसी कोई योजना है जिसके द्वारा इन लोक लुभावन वादों को पूरा करने के लिए संशाधन जुटाय जायेंगे या फिर ये बताने की कृपा करेंगे कि इस सबके लिए पैसा कहाँ से आयेगा ? आपके चुनावी वादों को देखकर जनता ने आपको वोट दे दिया, अब उन वादों को पूरा कीजिए न कि - अट्ठारह नए वादे और कर दें उस पर भी ये उम्मीद करें कि - उन वादों को पूरा करने के लिए संशाधन विपक्ष जुटाकर देगा

1. - दिल्ली से वीआईपी कल्चर बंद होना चाहिए. दिल्ली का कोई भी विधायक, कोई भी मंत्री या अफसर लालबत्ती की गाड़ी, बड़े बंगले और अपने लिए सुरक्षा नहीं लेगा
................................................................................................................
जब दिल्ली के मुख्यमंत्री आप होंगे तब मंत्रियों और विधायकों की सुरक्षा की जिम्मेदारी आपकी होगी न की बीजेपी या कांग्रेस की , आप कैसे करेंगे ये आप देखिये और हाँ दिल्ली सरकार के पास बड़े तो क्या छोटे बंगले भी नहीं है जो विधायकों को दे. अपने मंत्रियों को लाल बत्ती बांटना आपकी अपनी मर्जी पर निर्भर है या विपक्ष की मर्जी पर ?

2. - विधायक फंड और काउंसलर फंड खत्म किया जाएगा. यह फंड सीधे मोहल्ला सभाओं को जाएगा। जनता तय करेगी कि पैसा कहां खर्च हो.
.....................................................................................................
विधायक या काउंसलर के पास जब फंड ही नहीं होगा तो विकास कार्य कैसे करेगा और किसी के विधायक और काउंसलर होने का क्या अर्थ होगा ?

3.- दिल्ली के लिए लोकपाल बिल पास करना चाहते हैं. लोकपाल बिल पास होने के बाद 15 साल में कांग्रेस ने जितने घोटाले किए हैं, उनकी जांच होगी.
.......................................................................................................
बिल रखना और बिल पास कराने के लिए पर्याप्त बहुमत जुटाना सत्ताधारी पार्टी का काम है न कि - विपक्ष का. सरकार की किसी भी बात का बिरोध करना विपक्ष का विशेषाधिकार है

4. - सात साल में बीजेपी ने नगर निगम में जितने घोटाले किए हैं, उनकी जांच होगी. क्या बीजेपी को मंजूर है ?
..................................................................................................................
किसी भी घोटाले की जांच करना और अदालत में दोष साबित कर उसे सजा दिलवाने के लिए किसी पार्टी से अनुमति लेने की जरूरत थोड़े ही पड़ती है

5. - रामलीला मैदान के अंदर स्पेशल असेंबली सेशन बुलाएंगे और लोकपाल बिल वहां पास किया जाएगा.
................................................................................................................
बिधान सभा किस लिए है ? वहां जब चाहो रामलीला कर लेना .

6. - दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाए. कांग्रेस केंद्र में भी इसे पास कराने में मदद करे.
.................................................................................................................
इसके लिए तो खुद आपको ही प्रयास करने पड़ेंगे .

7. - बिजली कंपनियों का ऑडिट होना चाहिए. बिजली कंपनियों ने भारी हेराफेरी की है. ऑडिट करने से इनकार करने वाली कंपनी का लाइसेंस रद्द कर दिया जाए. ऑडिट के बाद बिजली की दरें तय की जाएं. दिल्ली में 50 पर्सेंट से ज्यादा बिजली के दाम कम किए जाएं.
.......................................................................................................... कम्पनियों का आडिट करने से आपको कौन रोकेगा भला ? हेराफेरी करने वाले का लाइसेंस रद्द करना और उसको सजा दिलाना तो आपकी ड्यूटी ही होगी . बिजली की कीमत कम कीजिए कौन मना करता है लेकिन बिजली खरीदने के लिए पैसे का इंतजाम आप को ही करना है

8. - दिल्ली में बिजली के मीटर तेज तल रहे हैं. इनकी निष्पक्ष जांच करवाई जाए. अगर मीटर गलत पाया जाता है तो लगने की अवधि से कंपनी से पैसा वसूला जाए.
...............................................................................................................
आपकी सरकार होगी आप अवश्य कीजिए , इसमें बीजेपी या कांग्रेस से पूछने की क्या जरुरत ?

9. - दिल्ली में पानी का माफिया काम कर रहा है. इसे बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं का संरक्षण है. इनको तिहाड़ जेल भेजा जाए. आम आदमी को 700 लीटर पानी मुफ्त दिया जाए.
.........................................................

Thursday, December 19, 2013

वध शाला में बछड़े का ये गौ से बयान है |

किसका मकान है माँ ये किसका मकान है ||
लाया था पकड़ के हमें नीले तहमद वाला कौन ?
इस घेर में रोक करके ठोक गया ताला कौन ??
हड्डियों के ढेर ये घर दुर्गंधी की खान है |
किसका मकान है माँ ये किसका मकान है ||
माता कहने लगी बेटा कल को मेरी मौत आएगी |
कल को प्रातः काल तेरी माता मरी जाएगी |
मुझ को जो मारेगा कल ये वही तो शैतान है |
किसका मकान है माँ ये किसका मकान है ||
बछड़ा कहने लगा -"माँ फिर किसका दूध पीऊँगा मै "|
तेरे बिना कौन मेरा बता कैसे जिऊँगा मै ||
हिन्दू नहीं दीखता ये कौन बेईमान है |
किसका मकान है माँ ये किसका मकान है ||
मेरे साथी कहाँ गए जिनके संग मै खेलता था |
अपने साथियों के साथ भगता दंड पेलता था ||
यहाँ कैसे आ गए माँ तबियत हैरान है |
किसका मकान है माँ ये किसका मकान है ||
क्या देश के साथ में ना हुए हैं आज़ाद हम |
भारतीयों का राज़ है तो फिर क्यों बर्बाद हम ||
बेकार ही रहा फिर तो भीष्म का व्याख्यान है |
किसका मकान है माँ ये किसका मकान है ||
वध शाला में बछड़े का ये गौ से बयान है |
किसका मकान है माँ ये किसका मकान है ||

Friday, December 6, 2013

बाबरी मस्जिद ध्वंस

बाबरी मस्जिद ध्वंस
हिन्दू भाइयों 6 दिसंबर को हर साल हम शौर्य दिवस मानते हैं॥
मगर जरा सोचें,इसके पीछे कितने बलिदान हुए, कितनी माताओं ने अपने पुत्र खोये ,
कितनी बहने आज भी विधवा हो कर जी रही है ,...?
क्या हुआ होगा उस बाप का जिसने अपने दो दो बेटो की गोलियों से छलनी हुआ लाश को देखा...??
ये सब किया तत्कालीन केंद्र की कांग्रेस और उत्तर प्रदेश की सपा सरकार ने॥ रामभक्तों को गोलियो से छलनी कर उनके शरीर मे बालू के बोरे बांध कर उनकी लाश सरयू मे फेक दी गयी । सोचिए क्या बीती होगी उस परिवार पर जिसने किसी अपने की सड़ी गली और जानवरो की खाई हुई लाशें यमुना से कई हफ़्तों बाद निकाली होगी कार सेवको को हेलीकाप्टर से चुन चुन कर निशाना बनाया गया,और गोली आँख मे या सर मे मारी गयी ॥ क्यू ???
क्यूकी हम हिंदुस्थान के हिन्दू थे ॥ आज वर्षो बाद ये वीडियो मिला ॥शायद हृदय विदारक है मगर आप से अनुरोध है इसे एक बार जरूर देखें और जाने की वो अयोध्या जो बाबर के औलादों के चंगुल मे थी किस प्रकार के बलिदान दे कर हमारे हिन्दू वीरो ने मुक्त कराया ॥ मै यहाँ आज मुल्ला यम सिंह के गोलीकांड के दो वीडियो पोस्ट कर रहा हूँ जो आज से 22 साल पुराने हैं और इसे देखने वाले को कभी इस वीडियो पर सरकार ने बैन लगा रखा था ।
http://www.vikalpseva.org/2012/12/1990.html
1 पहले वीडियो मे : किस प्रकार पुलिस सैकड़ो कारसेवको की हत्या कर रही है । किस प्रकार एक लाल ट्रक मे अंगिनतों लाशों को मुल्ला यम की पुलिस सबसे बचाकर ले जा रही है । कार सेवको की लाशों से पटी एक गली। घरो से निकालकर गोली मारने वाले पुलिस वाले ॥ गोली लगने के बाद मरते मरते भी “जय श्री राम” बोलते अमर बलिदानी कार सेवक प्रत्यक्षदर्शी लोग और घरो से निकाल कर मारे गए कारसेवको की लाशें॥
इससे पहले कि सरकार इन विडियो पर बेन लगा दे एक बार जरुर देखे और शेयर करे क्योकि बिकाऊ मीडिया को इस मामले में साँप सूंघ जाता है।

Monday, December 2, 2013

राजीव दीक्षित जी को जानिये।

नकली नोट

भारत का नोट छापने
वाली विदेशी कंपनिया ही भेज रही 1000/500
के डुप्लीकेट नोट जो भारत के
बरबादी का कारन बन रही हैं......
सुनने में आ रहा है की केरल में 4 कंटेनर भर के
1000 रुपये की जर्मनी में प्रिंटेड करीब 12000
करोड़ रुपये के नोटों की गड्डियों का 120 टन
(1 किलो में 10 लाख) नोट सितम्बर अंतिम
सप्ताह में पकड़ा गया और यह खबर सिर्फ
किसी एक केरल के अखबारों में भी आया है और
बाद में यह खबर दबा दी गयी है. भारत में
यही हो रहा है..मेहनत करके 100/-
रुपया कमाया जाता है और छपाई कराकर करोडो-
अरब रुपये भारत में लाकर भारत और भारत के
लोगो को तबाह किया जाता है..
भारत की मुद्रा रुपये के 1000 और 500 के
नोटों की गद्दिया यूरोप में टनों टन में
ट्रेलर में ढोई जा रही है और हम चिंता कर रहे
हैं की रुपया गिर क्यों रहा है, भारत में
यही रुपया कंटेनरों में भर भर के आ रहा है
जो एक दम असली नोट हैं कोई फर्क नहीं कर
पायेगा क्योकि बनाने वाली वही कम्पनी है
जो भारत की असली नोट सप्लाई कर रही है.
भारत के नोट अन्य देशो के अलावा फ्रांस और
जर्मनी में भी छापे जा रहे हैं, डे ला रू
कंपनी आज के दिन 70 देशो की करंसी छाप
रही है. यही कंपनी जाली नोट पकड़ने की मशीन
भी बनाती हैं, और जाली नोट भी. यह
विदेशी यूरोपीय ईसाई देशो की बहुत
बड़ी साजिस है की भारत का एक पौंड में 85/-
रुपया मिल रहा है और भारत दुनिया सबसे
बड़ा गोमांस निर्यातक देश बन चुका है जिससे
की डालर की वजह से ५० गुना हो चुके भारत के
45 लाख करोड़ के कर्जे को पटाया जा सके.
स्विट्जरलैंड का खरबपति"राबर्टो गेयरो"
की कंपनी"डेला रू"भारत के बड़े नोट छापती है
और यह वही आदमी है जो"तालिबान
द्वारा अपहरण करके कंधार ले जाए गए इंडियन
एयरलाइन्स के विमान में सवार था जो काबुल से
वापस स्विटजरलैंड चला गया".
इतनी अंदरूनी खबर भारत की
मिडिया कभी नहीं दिखायेगी.
इस समस्या का एक मात्र स्थाई समाधान है -
अर्थक्रंती प्रस्ताव को तुरंत लागु
किया जाये, और संतोष की बात है
की बीजेपी इसे लागु करने जा रही है.

जगन्नाथ पूरी के रहस्य

पुरी में जगन्नाथ मंदिर के 8 अजूबे इस प्रकार है।

1.मन्दिर के ऊपर झंडा हमेशा हवा के विपरीत दिशा में लहराते हुए।

2.पुरी में किसी भी जगह से आप मन्दिर के ऊपर लगे सुदर्शन चक्र को देखेगे तो वह आपको सामने ही लगा दिखेगा।

3.सामान्य दिन के समय हवा समुद्र से जमीन की तरफ आती है, और शाम के दौरान इसके विपरीत, लेकिन पूरी में इसका उल्टा  होता है.
4.पक्षी या विमानों मंदिर के ऊपर उड़ते हुए नहीं पायेगें।

5.मुख्य गुंबद की छाया दिन के किसी भी समय अदृश्य है.

6.मंदिर के अंदर पकाने के लिए भोजन की मात्रा पूरे वर्ष के लिए  रहती है।  प्रसाद की एक भी मात्रा कभी भी यह व्यर्थ नहीं जाएगी, चाहे कुछ हजार लोगों से  20 लाख लोगों को खिला सकते हैं.

7. मंदिर में रसोई (प्रसाद)पकाने के लिए 7 बर्तन एक दूसरे पर रखा जाता है और लकड़ी पर पकाया जाता है. इस प्रक्रिया में शीर्ष बर्तन में सामग्री पहले पकती है फिर क्रमश: नीचे की तरफ  एक के बाद एक पकते जाती है।

8.मन्दिर के सिंहद्वार में पहला कदम  प्रवेश करने पर (मंदिर के अंदर से) आप सागर द्वारा निर्मित किसी भी ध्वनि नहीं सुन सकते. आप (मंदिर के बाहर से) एक ही कदम को पार करें जब आप इसे सुन सकते हैं. इसे शाम को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है।

साथ में यह भी जाने:-
मन्दिर का रसोई घर दुनिया का सबसे बड़ा रसोइ घर है।

प्रति दिन सांयकाल मन्दिर के ऊपर लगी ध्वजा को मानव द्वारा उल्टा चढ़ कर बदला जाता है।

मन्दिर का क्षेत्रफल चार लाख वर्ग फिट में है।
मन्दिर की ऊंचाई 214 फिट है।

विशाल रसोई घर में भगवान जगन्नाथ को चढ़ाने वाले महाप्रसाद को बनाने 500 रसोईये एवं 300 उनके सहयोगी काम करते है।
" जय जगन्नाथ
जय जय जगन्नाथ "

Saturday, November 30, 2013

राजीव भाई जी का जीवन परिचय।

जीवन परिचय
राजीव दीक्षित का जन्म उत्तर प्रदेश के अलीगढ़
जनपद की अतरौली तहसील के नाह गाँव में राधेश्याम
दीक्षित एवं मिथिलेश कुमारी के यहाँ 30 नवम्बर
1967 को हुआ था। फिरोजाबाद से इण्टरमीडिएट तक
की शिक्षा प्राप्त करने के उपरान्त उन्होंने
इलाहाबाद से बी० टेक० तथा भारतीय
प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर से एम० टेक०
की उपाधि प्राप्त की। वे टेलीकम्यूनीकेशनमें उच्च
शिक्षा प्राप्त करना चाहते थे।अपनी इस
इच्छा को पूर्ण करने हेतु उन्होंने कुछ समय भारत के
सीएसआईआर तथा फ्रांस के टेलीकम्यूनीकेशनसेण्टर
में
काम भी किया। तत्पश्चात् वे भारत के पूर्व
राष्ट्रपति डॉ० ए पी जे अब्दुल कलाम के साथ जुड़
गये।
कलाम साहब उन्हें एक श्रेष्ठ वैज्ञानिक के साँचे में
ढालने ही वाले थे किन्तु राजीव ने जब बिस्मिल
की आत्मकथा का अध्ययन
किया तो अपना पूरा जीवन ही राष्ट्र-सेवा में
अर्पित कर दिया। उनका अधिकांश समय महाराष्ट्र
के वर्धा जिले में प्रो० धर्मपाल के कार्य को आगे
बढ़ाने में व्यतीत हुआ।
सन् 1999 में राजीव के
स्वदेशी व्याख्यानों की कैसेटों ने समूचे देश में धूम
मचा दी थी। पिछले कुछ महीनों से वे लगातार गाँव
गाँव शहर शहर घूमकर भारत के उत्थान और देश
विरोधी ताकतों व भ्रष्टाचारियों को पराजित करने
के लिए जन जागृति पैदा कर रहे थे। दीक्षित बिस्मिल
की आत्मकथा से इतने अधिक प्रभावित थे कि उन्होंने
बच्चन सिंह से आग्रह करके फाँसी से पूर्व उपन्यास
ही लिखवा लिया। राजीव पिछले 20 वर्षों से
बहुराष्ट्रीय कम्पनियों व उपनिवेशवाद के खिलाफ
तथा स्वदेशी की स्थापना के लिए संघर्ष कर रहे थे।
योगदान
दीक्षित ने 20 वर्षों में लगभग 12000 से अधिक
व्याख्यान दिये। भारत में 5000 से अधिक
विदेशी कम्पनियों के खिलाफ उन्होंने
स्वदेशी आन्दोलन की शुरुआत की। देश में सबसे
पहली स्वदेशी-विदेशी वस्तुओं की सूची तैयार करके
आम जनता से स्वदेश में निर्मित सामग्री अपनाने
का आग्रह किया। 1995-96 में टिहरी बाँध के
खिलाफ ऐतिहासिक मोर्चे में भाग लिया और पुलिस
लाठी चार्ज में काफी चोटें भी खायीं। उसके बाद
1997 में सेवाग्राम आश्रम, वर्धा में प्रख्यात
इतिहासकार प्रो० धर्मपाल के सानिध्य में अँग्रेजों के
समय के ऐतिहासिक दस्तावेजों का अध्ययन करके
समूचे
देश को आन्दोलित करने का काम किया। 10
वर्षों तक स्वामी रामदेव के सम्पर्क में रहने के बाद
उन्होंने 9 जनवरी 2009 को भारत स्वाभिमान ट्रस्ट
का दायित्व सँभाला।
इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अध्ययन के समय से
ही उनके अन्दर राष्ट्र के लिए कुछ कर गुजरने
की तमन्ना पैदा हुई। भारतीय सभ्यता और
संस्कृति पर
मँडरा रहे खतरों को लेकर आक्रोश पैदा हुआ।
माँ भारती को मानसिक गुलामी, विदेशी भाषा,
विदेशी षड्यन्त्रों से मुक्त करवाने के लिए उन्होंने
आजादी बचाओ आन्दोलन प्रारम्भ किया। अपने
राष्ट्र को आर्थिक महाशक्ति के रुप में खडा करने के
लिए उन्होंने आजीवन ब्रह्मचारी रहने
की प्रतिज्ञा की और उसे जीवन पर्यन्त निभाया।
अपने जीवन के अन्त तक उन्होंने इन
सिद्घान्तों का दृढता के साथ पालन किया।
सिद्घान्तों का पालन करते हुए अनेकों बाधायें
आयीं परन्तु उन्होंने कभी भी समझौतावादी एवं
पलायनवादी होना स्वीकार नही किया।
सिद्घान्तों के
प्रति दृढता सीखनी हो तो उनका जीवन सबके लिये
आदर्श है।
निस्सन्देह वे भारत माँ के गौरव पुत्र थे। ऐसे
ओजस्वी वक्ता जिनकी वाणी पर
माँ सरस्वती साक्षात निवास करती थी। जब वे
बोलते थे तो स्रोता घण्टों मन्त्र-मुग्ध होकर
उनको सुना करते थे। भारत के स्वर्णिम अतीत
का गुणगान अथवा विदेशियों के
द्वारा की गयी आर्थिक लूट का बखान करते हुए
उनका दिमाग कम्प्यूटर से भी तेज चलता था।
यदि उन्हें भारत का चलता-फिरता सुपर कम्प्यूटर
कहा जाये तो अतिशयोक्ति न होगी। विलक्षण
प्रतिभा के धनी राजीव की विनम्रता सबके ह्रदय
को छू जाती थी। भारत को विश्व की आर्थिक
महाशक्ति बनाने को संकल्पित भारत स्वाभिमान के
उद्देश्यों को प्रचारित प्रसारित करते हुए वे छत्तीसगढ
राज्य के दुर्ग जिले के प्रवास पर थे। कर्मक्षेत्र में
अहर्निश डटे रहकर उन्होंने भारत माँ को आर्थिक
गुलामी से मुक्त करवाने हेतु अपना बलिदान कर दिया।

Tuesday, November 19, 2013

paid media

media ने कभी ये बताया ??
nestle कंपनी खुद मानती है कि वे अपनी चाकलेट kitkat मे बछड़े के मांस
का रस
मिलाती है ! और सबका धर्म भ्रष्ट कर रही है !
_____________________________
media ने कभी ये बताया ???
की मद्रास high cout मे fair and lovely कंपनी पर जब case
किया गया था ! तब कंपनी ने खुद माना था ! हम cream मे सूअर
की चर्बी का तेल मिलाते है !!

_______________________________
media ने कभी ये बताया ????
की ये colgate कंपनी जब अपने देश america मे colgate बेचती है
तो उस पर warning लिखती है !!
अमेरिका और यूरोप में जब कोलगेट बेचा जाता है तो उसपर
चेतावनी (Warning) लिखी होती है | लिखते अंग्रेजी में हैं, मैं
आपको हिंदी में बताती हूँ, उस पर लिखते हैं
"please keep out this Colgate from the reach of the
children below 6 years
" मतलब "छः साल से छोटे बच्चों के पहुँच से इसको दूर रखिये/उसको मत
दीजिये", क्यों? क्योंकि बच्चे उसको चाट लेते हैं, और उसमे कैंसर करने
वाला केमिकल है, इसलिए कहते हैं कि बच्चों को मत देना ये पेस्ट |
और आगे लिखते हैं " In case of accidental ingestion , please
contact nearest poison control center immediately , मतलब
"अगर बच्चे ने गलती से चाट लिया तो जल्दी से डॉक्टर के पास ले के
जाइए" इतना खतरनाक है, और तीसरी बात वो लिखते हैं
"If you are an adult then take this paste on your brush in
pea size " मतलब क्या है कि " अगर आप व्यस्क हैं /उम्र में बड़े हैं
तो इस पेस्ट को अपने ब्रश पर मटर के दाने के बराबर की मात्रा में लीजिये"
|
और आपने देखा होगा कि हमारे यहाँ जो प्रचार टेलीविजन पर आता है उसमे
ब्रश भर के इस्तेमाल करते दिखाते हैं | हमारे देश में बिकने वाले पेस्ट पर ये
"warning" नहीं होती !

______________________
media ने कभी बताया कि
ये vicks नाम कि दवा यूरोप के कितने देशो मे ban है ! वहाँ इसे जहर
घोषित किया गया है !पर भारत मे सारा दिन tv पर इसका विज्ञापन
आता है !!

_____________________________
media ने कभी बताया ??
कि life bouy न bath soap है न toilet soap ! ये जानवरो को नहलाने
वाला cabolic soap है !
यूरोप मे life bouy से कुत्ते है !और भारत मे 9 करोड़ लोग इससे रगड़ रगड़
कर नहाते हैं !!

_______________________
media ने कभी बताया ! ???????????
की ये coke pepsi सच मे toilet cleaner है ! और ये साबित हो गया है
इसमे 21 तरह के अलग अलग जहर है ! और तो और संसद की कंटीन मे
coke pepsi बेचना ban है ! पर पूरे देश मे बिक रही है !!

____________________
media ने कभी बताया ????
कि ये healt tonic बेचने
वाली विदेशी कंपनिया boost ,complan ,horlics,maltova ,protinx ,
इन सबका delhi के all india institute (जहां भारत की सबसे बड़ी लैब
है ) वहाँ इन सबका test किया गया ! और पता लगा ये सिर्फ मुगफली के
खली से बनते है ! मतलब मूँगफली का तेल निकालने के बाद
जो उसका waste बचता है !जिसे गाँव मे जानवर खाते है ! उससे ये health
tonic बनाते है !!

__________________________
media ने कभी बताया ??????
अमिताभ बच्चन का जब आपरेशन हुआ था और 10 घंटे चला था ! तब
डाक्टर ने उसकी बड़ी आंत काटकर निकली थी !! और डाक्टर मे कहा था ये
coke pepsi पीने के कारण सड़ी है ! और अगले ही दिन से अमिताभ बच्चन
ने इसका विज्ञापन करना बंद कर दिया था और आजतक coke pepsi
का विज्ञापन नहीं करता !

__________________________________
तो दोस्तो ये media अगर ईमानदार है ! तो सबका सच एक साथ दिखाये !!
विदेशी कंपनिया को expose करने की बात पर मुंह मे रुमाल डाल लेता है !!
और बेचारे गरीब मिठाई वालों का धंधा चोपट करने के लिए कुत्तों की तरह
भोंकने लग जाता है !पूरी post आपने पढ़ी बहुत बहुत .thanks !!
jaroor share करे !!

Sunday, November 3, 2013

दीपावली से जुड़े रोचक तथ्य।


¶ दीपावली से जुड़े कुछ रोचक तथ्य ¶
*. त्रेतायुग में भगवान राम जब रावण को हराकर
अयोध्या वापस लौटे तब उनके आगमन पर दीप जलाकर
उनका स्वागत किया गया और खुशियाँ मनाई गईं।
*. यह भी कथा प्रचलित है कि जब श्रीकृष्ण ने
आतताई नरकासुर जैसे दुष्ट का वध किया तब
ब्रजवासियों ने अपनी प्रसन्नता दीपों को जलाकर
प्रकट की।
*. राक्षसों का वध करने के लिए माँ देवी ने
महाकाली का रूप धारण किया।
राक्षसों का वध करने के बाद भी जब
महाकाली का क्रोध कम नहीं हुआ तब भगवान शिव
स्वयं उनके चरणों में लेट गए। भगवान शिव के शरीर
स्पर्श मात्र से ही देवी महाकाली का क्रोध समाप्त
हो गया।
इसी की याद में उनके शांत रूप
लक्ष्मी की पूजा की शुरुआत हुई।
इसी रात इनके रौद्ररूप काली की पूजा का भी विधान
है।
*. कार्तिक अमावस्या के दिन सिखों के छठे गुरु
हरगोविन्दसिंहजीबादशाह जहाँगीर की कैद से मुक्त
होकर अमृतसर वापस लौटे थे।
*. कृष्ण ने अत्याचारी नरकासुर का वध
दीपावली के एक दिन पहले चतुर्दशी को किया था।
इसी खुशी में अगले दिन अमावस्या को गोकुलवासियों ने
दीप जलाकर खुशियाँ मनाई थीं।
*. 500 ईसा वर्ष पूर्व की मोहनजोदड़ो सभ्यता के
प्राप्त अवशेषों में मिट्टी की एक मूर्ति के अनुसार उस
समय भी दीपावली मनाई जाती थी।
उस मूर्ति में मातृ-देवी के दोनों ओर दीप जलते दिखाई
देते हैं।
*. बौद्ध धर्म के प्रवर्तक गौतम बुद्ध के समर्थकों एवं
अनुयायियों ने 2500 वर्ष पूर्व गौतम बुद्ध के स्वागत
में हजारों-लाखों दीप
जलाकर दीपावली मनाई थी।
*. सम्राट विक्रमादित्य का राज्याभिषेक दीपावली के
दिन हुआ था। इसलिए दीप जलाकर खुशियाँ मनाई गईं।
*. ईसा पूर्व चौथी शताब्दी में रचित कौटिल्य
अर्थशास्त्र के अनुसार कार्तिक अमावस्या के
अवसर पर मंदिरों और घाटों (नदी के किनारे)
पर बड़े पैमाने पर दीप जलाए जाते थे।
*. अमृतसर के स्वर्ण मंदिर का निर्माण
भी दीपावली के ही दिन शुरू हुआ था।
*. जैन धर्म के चौबीसवें तीर्थंकर भगवान महावीर ने
भी दीपावली के दिन ही बिहार के
पावापुरी में अपना शरीर त्याग दिया था।
*. पंजाब में जन्मे स्वामी रामतीर्थ का जन्म व
महाप्रयाण दोनों दीपावली के दिन ही हुआ।
इन्होंने दीपावली के दिन गंगातट पर स्नान
करते समय 'ओम' कहते हुए समाधि ले ली।
*. महर्षि दयानन्द ने भारतीय संस्कृति के महान
जननायक बनकर दीपावली के दिन अजमेर के निकट
अवसान लिया।
इन्होंने आर्य समाज की स्थापना की।
।। जय श्रीराम ।।
।। शुभ दीपावली ।।

Monday, October 21, 2013

पेन किलर

पेन किल्लर यानि के दर्द निवारक दवाई ..इबुप्रोफेन, डिक्लोफेनेक
असेक्लोफेनेक ..आदि लगभग हर घर में मौजूद रहते है .जोड़ो के दर्द
से लेकर कमर,दाँत दर्द तक सभी के लिए धडल्ले से उपयोग करते
है ..

चलिए इस बात को यही छोड देते है ..

और आते है गिद्धों की जनसँख्या पर ..जी हाँ पिछले पन्द्रह बीस
सालो से गिद्ध भारत में लगभग खत्म हो गए है ..और वन विभाग ने
इन्हें ढूँढने पर एक लाख रुपयों इनाम रखा है !
पर इनसब
बातो का पेईन किल्लर से क्या सम्बन्ध है ??

सुन कर आप चौंक जायेंगे ..भारत में गिद्धों के खत्म होने
का एकमात्र कारण है डीक्लोफेनेक पेन किल्लर !! (गूगल कीजिये) ..
मवेशी अपने लंगड़े जानवरो को डिक्लोफेनेक देते है .और वो भेड
बकरियाँ जल्दी मर जाते है किडनी फेल होने से ..और कत्लखानो में
उन्ही के बचे हुए टुकडो को खाने से
गिद्धों की संख्या लुप्तप्रायः हो गई !

अब आते है इंसानों की ओर !...
आजकल हर छोटे से छोटे शहर में 'किडनी सेंटर' खुल गए
है ..किडनी खरीदना और बेचना लाखो-करोडो का बिजनेस
हो गया है ..आज से दस-पन्द्रह साल पहले एक भी सेंटर नहीं थे ...
जी हाँ आप सही सोंच रहे है ..किडनी फेल होने का सबसे
बड़ा मुख्य कारण है पेन किल्लर !

यदि इन पेन किल्लर पर
प्रतिबन्ध लगाया जाए तो भारत में सारे किडनी सेंटर की दुकान बन्द
हो जायेगी ,,और भारत एक बहुत बड़े किडनी रोग से मुक्त
हो जायेगी ..एक बहुत बड़े अंतर्राष्ट्रीय षड्यंत्र का पर्दाफाश !!